P 6 in Hindi की जानकारी, लाभ, फायदे, उपयोग, कीमत, खुराक, नुकसान, साइड इफेक्ट्स – P 6 ke use, fayde, upyog, price, dose, side effects in Hindi

नमस्कार दोस्तो ‘
      स्वागत है आपका मेडिकल जानकारी ब्लोगस में दोस्तो आज इस ब्लोस्ग में मैं आपको जानकारी देने वाला  हू ,बवासीर ,फिसर आदि रोग के लिए सबसे अच्छा ओर कमियाब दवाई के बारे में  जिसका नाम है P-6 Quick Action Formula इस दवाई के काही सारे फायदे है जो आपको इस ब्लोस्ग में बताने वाला हू तो दोस्तो बने रहे हमारे जानकारी के साथ आए जानते है P-6 Quick Action Formula के बारे में बिस्तार से !


➧P-6 Quick Action Formula के बारे में जानकारी-Information about P-6 Quick Action Formula

 P-6 Medicine एक आयुर्वेदिक दवाई है जो बवासीर ,फिसर ,आदि गुदा रोग के लिए काफी फायदेमंद है P-6 दवाई में काही सारी आयुर्वेदिक जड़ी बूटियो मिले हुए है जो इस दवाई को खास बनती है ये दवाई आपको हर मेडिकल स्टोर में आसानी से मिल जाते है P-6 Quick Action Formula को manfactured & Marketed ‘Trrust Health Care ‘ करती है ओर जो P-6 Quick Action Formula दिया है उनका नाम है “S.P Singh Chawala” P-6 capsules के रूप में आपको मिलते है ओर इसके price-130 /24 Capsules आते है अगर आपको अच्छा ओर पक्का रिज़ल्ट चाइए तो आपको P-6 की क्रीम भी उपयोग में लानी चाइए P-6 Quick Action Formula काफी टाइम से चलने वाले दवाई ओर काफी लोगो को आराम व मिला है !ओर दोस्तो उपयोग  करने से पहले आपको डॉक्टर से जरूर जानकारी लेने चाइए !P-6 Quick Action Formula Pyogenic bacteria,Yeast ,Moulds से मुक्त करने में हेल्प करता है !P-6 Quick Action Formula हर  बवासीर में लाभदायक है आए जानते है क्यू होता है बवासीर !


➧बवासीर होने का कारण -Causes of Piles-

दोस्तो जैसे की आपको पता है की आयुर्वेद जो है कही सालो से चलते आ रहे आज जाकर कुछ आयुवेदिक दवाई का सेवन कर रहे है लेकिन पहले के लोगो को कभी अपने सुन भी था की उनको बवासीर है या पेट की कोई रोग है या काही ओर बीमारी है जो आज कल हर किसे को होना आम बात है पेट की प्रोब्लेम  की बात करू तो आजकल बचे बचे को पेट की प्रोब्लेम है क्यू क्या कारण है जो ऐसा हो रहा हौ तो हमरे आयुर्वेदिक ससत्रों में बतया गया है की हर बीमारी का रास्ता हमरे पेटे से होकर जाता है क्यूकी अगर हम सही खाना नही खाएँगे तो बीमारी तो होने है ऐसे ही बवासीर की बीमारी की जड़ है हमारा पेट ,ओर भाहर का गंदा खाना पीना ,हमारा सही से खाने का टाइम नही होना ,हर चीज़ का मिलावटी होना,हमारे डेलि रौटीन सही नही होना !इस वज़ा से हमारे पेट में कब्ज ,गॅस ,पेट फूलना ,ओर काही पेट की बीमारी की वज़ा से बवासीर जैसे रोग की उत्पपति  होना ! आगे किसी पोस्ट में मैं आपको बवासीर की पूरी जानकारी देने की कोसिस करूंगा !


p-6 capsules in hindi
p-6 capsules in hindi


➧P-6 ayurvedic Capsules की सामग्री-Ingredients of P-6 ayurvedic Capsules-


P-6 Quick Action Formula में कई सारे आयुर्वेदिक जड़ी बूटी ,भ्सम पड़ी हुए है जो बवासीर,फिसर जैसे बीमारी को खतम करने में सहयाक है आए जानती है P-6 ayurvedic Capsules सामग्री के बारे में !

  • Rasanjana Shudh -160mg
  • Retha Fruit Powder-60mg
  • Neem Seed Powder -60mg
  • Triphla Powder-60mg
  • Guggul Shudh latex powder-40mg
  • Moch rasa Powder-20mg
  • Shankh Bhasma Powder -20mg
  • Phitkari Shudh -80mg

➧P-6 Ayurvedic Capsules के उपयोग,लाभ,फायदे -benefits of P-6 Ayurvedic Capsules-


                               P-6  Quick Action Formula  इन बीमारी में उपयोग की जाती है !
  • P-6 आयुर्वेदिक केप्सूल का उपयोग बवासीर के लिए उपयोग में लाया जाता है !
  • P-6 आयुर्वेदिक केप्सूल को फिसर रोग में उपयोग किया जाता है !
  • P-6 आयुर्वेदिक केप्सूल गुदा में खून का गिरने को रोकता है 
  • P-6 आयुर्वेदिक केप्सूल 36 से 72 घंटो में  गुदा से दर्द ,जलन को खत्म कर्ता है !
  • P-6 आयुर्वेदिक केप्सूल बवासीर में मस्सो को शुखा देता है ओर गुदा या मस्सों की सूजन को कम कर्ता है!
  • P-6 आयुर्वेदिक केप्सूल सेवन से आप ओप्रेसन से बच सकते है !
  • P-6 आयुर्वेदिक केप्सूल से आप फिसर रोग से ,बवासीर से छुटकारा पा सकते है !
  • P-6 आयुर्वेदिक केप्सूल Internal ओर Extranal दोनों बवासीर में फायदेमंद है !
  • P-6 आयुर्वेदिक केप्सूल को खुजली ,ओर दर्द वाले बवासीर में उपयोग किया जाता है !
  • P-6 आयुर्वेदिक केप्सूल को delivery के बाद होने वाले बवासीर में उपयोग किया जाता है !
  • P-6 आयुर्वेदिक केप्सूल  को खूनी ,भादि  बवासीर में भी उपयोग किया जाता है !

p-6 capsules sideeffects
p-6 capsules uses


➧P-6 Ayurvedic Capsules को सेवन करने की विधि-Method of consuming P-6 Ayurvedic Capsules-

दोस्तो हर दवाई की खुराक ओर सेवन करने की विधि मरीज की उम्र ,वजन ,कब से उसको बीमारी है  ये सब देक के मरीज को दवाई की खुरक बताई जाते है इसलिए दवाई का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से जरूर जानकारी ले !
   आए जानते है P-6 Ayurvedic Capsules के सामान्य खुराक ओर मात्रा -2 कप्सूल ,सुबहा ,2 कप्सूल ,दिन में ओर 2 कप्सूल रात को दिये जाता है -आप इसका सेवन ठंडे दूध या पानी से 4 Week तक लगातार सेवन करना करे !अगर आप को सही ओर पूरा आराम चाइए तो 8 से 12 Week तक इसका सेवन करे !

नोट -इस दवाई से अगर आपको आराम होता है तो बीच में दवाई का सेवन बंद न करे इसको कम से कम 12-16 Week तक सेवन जरूरु करे ताकि बीमारी जड़ से खत्म हो जाए ! ओर अच्छ परिणाम से लिए P -6 क्रीम का सेवन मस्सो में करे ! दवाई की मात्रा मरीज की बीमारी पे होता है अगर जादा पुरानी से है तो दवाई को आगे बड़ाया जाता है !

P-6 Ayurvedic Capsules के नुकसान,दुसप्रभाव-P-6 Ayurvedic Capsules, side effects-


P-6 Ayurvedic Capsules के ऐसे कोई नुकसान नही है क्यूकी ये आयुर्वेदिक दवाई है अगर आपको कुछ नुकसान होता है डॉक्टर से जरूर मिले ओर दावा को बंद कर दे 

P-6 Ayurvedic Capsules सावधानियां-P-6 Ayurvedic Capsules Precautions & Warnings –


        P-6 Ayurvedic Capsules को उपयोग में लाते टाइम या लाने से पहले कुछ सावधानी जरूर रखे !  
  • P-6 Ayurvedic Capsules को उपयोग से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह ले !
  • P-6 Ayurvedic Capsules की मात्रा उसके रोग,उम्र,आदि से दी जाते है कभी भी इसका सेयव्न खुद से न करे!
  • P-6 Ayurvedic Capsules ओर क्रीम का सेवन साथ में करे जल्दी परिणाम के लिए !
  • P-6 Ayurvedic Capsules को उपयोग से पहले डॉक्टर को जरूर बटये अगर आपको इनमे किसी व आयुर्वेदिक सामग्री से एलर्जि है !
  • P-6 Ayurvedic Capsules को उपयोग से पहले डॉक्टर से अपने पुरानी बीमारी या दवाई के बारे में जरूर बताए 

➧-बवासीर में परहेज क्या करे [What to avoid in Piles ]-


➣खाने में ये न खाये [Do not eat it in food]-

बवासीर या फिसर में तेज़ मसले ,हरी ,लाल मिर्च ,चावल ,तली हुए चिजे ,चाय,कॉफी ,आचार ,अदरक ,लहसुन ,आन्डा ,मास ,शराब आदि का सेवन न करे !साइकल ,मोटर साइकल ,नसा न कर जिसे आपको गॅस ओर प्रोबले हो !आगर आप जल्दी आराम चाइए तो इन सब को इगनोर करे !


➣खाने में ये खाये [Eat it in food]-

 छिलका दाले,हरी सब्जिय ,ताजा फल ,मठा ,मुली की पतो की सब्जी ,पपीता ,अमरूद ,पर्वल ,टिंडा ,दहि ,लस्सी ,सरबत ,रोटी ओर पानी का सेवन ज्यादा करे !



वीडियो देखे –



नोट – हम आपको किसी भी दवाई को लेने को नही कहते है आप अगर दवाई ले तो अपने नजदीक डॉक्टर/फ़ार्मासिस्ट से संपर्क जरूर करे इस साइट पर आपको कही प्रकार की दवाई,बीमारी की जानकारी देखने को मिलेगे में एक फ़ार्मा सिस्ट हू ओर मेरा काम आपको जानकारी देने है तो आप कभी दवाई अपने मर्जी से न ओर अगर आप अपने मर्जी से दवाई लेते है ओर आपको नुकसान होता है तो  इसमे हमारी कोई जीमेदारी नही होगी ! 
                    धन्यवाद !

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Medical Jankari
%d bloggers like this: