पेशाब में खून आने के लक्षण, कारण, इलाज, दवा, उपचार और परहेज | Urine me blood Ke Karan,Lakshan, ilaj,Dawa Aur Upchar in Hindi [Symptoms,Causes,Treatment,Medication,Prevention of blood in urine]]

                                 ⇥ पेशाब में खून आना – Blood in Urine in Hindi

नमस्कार दोस्तों,

स्वागत है आपका मेडिकल जानकारी ब्लॉग में आज इस लेख में आपको जानकारी देने वाले है पेशाब में खून आना (Hematuria) का क्या कारण हो सकते  है और आपको क्या इसमें इलाज लेने चाइये और कुछ दवाई के बारे में आपको बताऊंगा तो बने रहे ब्लॉग में अगर आप जानकारी वीडियो के जरिये देखना चाहत्ते तो आप हमारे यूट्यूब चैनल मेडिकल जानकारी में जाकर देख सकते है और चैनल सब्सक्राइब जरूर करे तो आगे जानते है विस्तार से-

पेशाब में खून आना क्या है [What is blood in urine]-

कही बार कही लोगो को पेशाब में खून दिखाई देता है जिसे लोग आम समझने लगते है और वो आगे चले के बहुत खतरनाक बीमारी  होती है पेशाब में स्पष्ट रूप से दिखाई देने वाले खून को ग्रोस हेमाट्यूरिया (Gross Hematuria) कहा जाता है। मूत्र में रक्त (जो केवल माइक्रोस्कोप की मदद से देखा जा सकता है) तब पाया जाता है जब डॉक्टर पेशाब की जांच करते हैं, उसे माइक्रोस्कोपिक हेमाट्यूरिया (Microscopic Hematuria) कहा जाता है। किसी भी तरह से खून आने के कारण को निर्धारित करना जरूरी होता है, क्योंकि पेशाब में खून अपने आप भी आ सकता है और यह किसी अन्य कारण से भी जुड़ा हो सकता है

कभी-कभी पेशाब में खून की मात्रा इतनी कम होती है कि उनको आंखों से नहीं देखा जा सकता और उनका पता तब चलता है जब किसी कारणवश पेशाब टेस्ट करवाया जाता है। चूंकि एक स्वस्थ पेशाब में बिलकुल भी खून की मात्रा नहीं होती,इसलिए डॉक्टर द्वारा पेशाब की जांच करना जरूरी होता है। पेशाब में खून तब मिलता है जब पेशाब गुर्दे, मूत्राशय और मूत्र पथ (ट्यूब) के अंदर से गुजरता है !

पेशाब में खून आने के प्रकार [Types of blood in urine]-

  • Gross hematuria – इसमें पेशाब में खून की मात्रा अधिक होती है, जिसको आंखों से देखा जा  सकता है !
  • Microscopic hematuria – इसमें पेशाब में खून की मात्रा बहुत कम होती है,जिसको देखने के लिए माइक्रोस्कोप की जरुरत होती है !


पेशाब में खून आने के प्रकार [Types of blood in urine]

पेशाब में खून आने के कारण [Causes of blood in urine]-

पेशाब में खून आने के कही कारण हो सकते है ये बीमारी पे डिपेंड करता है इसमें कही प्रकार के करण हो सकते है कुछ आपको निचे बताये गये है !
  • चोट लगना (urinary tract trauma)
  • मूत्रमार्ग में पथरी (stone in Urinary tract)
  • कीडनी सूजन (Glomerulonephritis )
  • प्रोस्टेट ग्रंथि का बढ़ना ( enlargement of prostate )
  • मूत्र मार्ग में टूमओर ( tumors of urinary tract )
  • coagulation disorder 
  • मूत्र मार्ग में इन्फेक्शन (urinary tract infection) 
  • मूत्रमार्ग में छाय रोग (Tuberclosis of urinary tract)
  • कुछ प्रकार के खाद्य पदार्थ जो पेशाब को गुलाबी रंग में बदल देते हैं, जैसे चुकंदर
  • कुछ प्रकार की दवाएं जो पेशाब को लाल या भूरे रंग में बदल देती हैं, जैसे एंटीबायोटिक्स (नाईट्रोफ्यूरैंटोइन और रिफैंपीसिन)
  • मासिक धर्म के दौरान पेशाब में खून मिलकर आना, जो इसे गुलाबी रंग में बदल सकती है।
  • Urethritis) – मूत्र को शरीर से बाहर ले जाने वाली ट्यूब (मूत्रमार्ग) में सूजन होना। यह समस्या अक्सर यौन संचारित रोगों (STI) से होती है, जैसे क्लामिडिया 
वीडियो देखे हिंदी में –

पेशाब में खून आने के लक्षण [Symptoms of blood in urine]-

हेमाट्यूरिया से ग्रसित लोगों में कुछ अन्य लक्षण भी दिखाई दे सकते हैं और इसके लक्षण पेशाब में खून आने के कारणों पर निर्भर करते हैं !
  • यूरिन के साथ हल्का या ज्यादा ब्लड आना 
  • पेट के निचले हिस्से में दर्द (lower abodominal pain)
  • कमर दर्द (back pain)
  • मूत्र करना में दिकत  होना (diffculty in urination)
  • मूत्र लगने में तीव्र इक्छा (urgency of urination)
  • उक्त रक्त चाप (high blood pressure)
  • अगर यूरिन में खून ज्यादा मात्रा में मिक्स्ड है तो यह क्लॉट बना सकते है और यूरिनरी ट्रैक्ट को obstruct कर सकता है ! 
  •  अगर ज्यादा दिन तक ब्लड आये तो डॉक्टर से मिले !
                              पेशाब में खून आना क्या है [What is blood in urine]

पेशाब में खून आने का उपचार [Treatment for blood in urine]

पेशाब में खून आने के ज्यादातर कारण,जैसे कुछ दवाएं, छोटी-मोटी चोटें या गुर्दे की पथरी आदि अस्थायी होती हैं, जिनका लंबे समय तक प्रभाव नहीं पड़ता। ज्यादातर लोगों के लिए मूत्र पथ का संक्रमण इलाज योग्य होता है। अगर जल्दी पता लगा लिया जाए तो मूत्र पथ के कैंसर का अच्छा पूर्वानुमान लगाया जा सकता है। मूत्र पथ के कैंसर का समग्र पूर्वानुमान, कैंसर के सटीक प्रकार पर निर्भर करता है !

पेशाब में खून आने पर कुछ दवाइया [Some medicines when blood in urine]-

ये दवाई आपको डॉक्टर से जानकारी के बाद ही दवाई को लेना चाइये क्युकी दवाई की खुराक हमेश मरीज के हिसाब से दी जाती है कुछ दवाई इस प्रकर है –
  • Tab- Etamcip (Etamsylate 50mg)- 1 tab (B.D.)
  • inj.Etamsylate 2ml(i./v) अगर ब्लड ज्यादा हो तो !
  • Antibiotic में Tab Norflox 400 ( १ गोली सुबह शाम) 
  • Pain काम करने के लिएTab Zero Spas –1 गोली S.O.S
  • Alkalizer के तौर परSyp -Alkasol ( २ चमच सुबह शाम पानी के साथ में )

पेशाब में खून आने पर आयुर्वेदिक दवाईया [Ayurvedic medicines for blood in urine]-

  • पुष्यानुग चूर्ण -35 gm 
  • आमलकी चूर्ण -2 gm 
  • स्फटिक भस्म -500 gm 
  • प्रादान्तक लोह -125 gm       —-(1 -1 मात्रा सुबह शाम ) पानी व् मधु से 
  • अयोग्य वर्धनी वटी -1 गोली 
  • चन्दर प्रभ वटी – 1 गोली —–(सुबह शाम पानी से )
                                           
नोट – हम आपको किसी भी दवाई को लेने को नही कहते है आप अगर दवाई ले तो अपने नजदीक डॉक्टर/फ़ार्मासिस्ट से संपर्क जरूर करे इस साइट पर आपको कही प्रकार की दवाई,बीमारी की जानकारी देखने को मिलेगे में एक फ़ार्मा सिस्ट हू ओर मेरा काम आपको जानकारी देने है तो आप कभी दवाई अपने मर्जी से न ओर अगर आप अपने मर्जी से दवाई लेते है ओर आपको नुकसान होता है तो  इसमे हमारी कोई जीमेदारी नही होगी !

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Medical Jankari
%d bloggers like this: